Tags » Z News

आशाओं का एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन
पीलीभीत : स्वास्थ्य विभाग में संगिनी पद पर
चयन प्रक्रिया में धांधली किए जाने से
भड़की आशाओं ने उपजिलाधिकारी कार्यालय
पर प्रदर्शन कर चयन निरस्त कराने की मांग
का ज्ञापन सौंपा। आशाओं ने चयन
प्रक्रिया की जांच कराने तथा वेतन
वृद्धि की मांग की। बीसलपुर में
भी कार्यकत्रियों ने सामुदायिक स्वास्थ्य
केंद्र परिसर में प्रदर्शन कर विरोध जताया।
संगिनी पद की चयन प्रक्रिया में
मनमानी किए जाने से आशा कार्यकत्रियों में
रोष है। आशाओं का आरोप है
कि जो कार्यकत्रियां कार्य नहीं करती हैं।
उनका चयन किया गया है और जो अच्छा कार्य
कर रही हैं उनका चयन ही नहीं किया गया है।
आशा कार्यकत्री कल्याण एसोसिएशन
की ब्लाक अध्यक्ष इदरीसन के नेतृत्व में
उपजिलाधिकारी कार्यालय पर नारेबाजी कर
प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा। इसमें
कहा गया कि आशा कार्यकत्रियां रातदिन
मरीजों एवं गर्भवती महिलाओं,
बच्चों को स्वास्थ्य सेवाएं दिलवाती हैं। इसके
एवज में उन्हें नाममात्र
का मेहनताना मिलता है। स्वास्थ्य विभाग
द्वारा संगिनी का चयन किया गया है
तथा 15 जुलाई को साक्षात्कार
की औपचारिकता की गई जिसमें मनमाने ढंग से
चयन करने से आशाओं में रोष है। बिलसंडा में इसके
विरोध में धरना प्रदर्शन शुरू किया गया।
शुक्रवार को आशा कार्यकत्रियों ने
उपजिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर
ज्ञापन सौंपा तथा चयन निरस्त कराने
की मांग की। कार्रवाई न होने पर आंदोलन
की चेतावनी दी है तथा आशाओं का वेतन बढ़ाकर
पांच हजार कराने की भी मांग की गई।
प्रदर्शन में इदरीशन, सीमा सिंह, शकुंतला,
शोभारानी, पूजा देवी, नीलम देवी,
विमला देवी, रामबेटी, माया शर्मा, मिथलेश
कुमारी, रेनू शुक्ला, शशिबाला, अनोखी देवी,
तरसेम कौर, चिंता देवी, पुष्पा देवी,
मुन्नी देवी, अरुण कुमारी आदि शामिल थीं।
बता दें कि डीएम के निर्देश पर इसमें सीएमओ
खुद जांच कर रहे हैं।
—————
शोपीस बने सीयूजी मोबाइल फोन
फोटो : 8 बीएसएलपी 5
बीसलपुर: प्रदर्शन कर
रही आशा कार्यकत्रियों ने बताया कि निशुल्क
वितरित किए गए सीयूजी मोबाइल फोन
शो पीस बने हुए है।
गत 26 जून को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में
अधीक्षक डा.ठाकुरदास द्वारा उन्नीस
एएनएम व 160 आशाओं को निशुल्क
सीयूजी मोबाइल फोन वितरित किए गए थे।
ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर
बनाने के लिए शासन ने एएनएम व आशाओं
को निशुल्क सीयूजी मोबाइल फोन उपलब्ध
कराए थे। जो अभी तक शो-पीस बने हुए हैं। इससे
कार्यकत्रियों में रोष है। उन्होंने चिकित्सालय
परिसर में एकत्र होकर विभागीय
अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन किया।
उन्होंने बताया कि सीयूजी नंबर खुले
ही नहीं है। जबकि बार-बार इस बारे में
अफसरों को अवगत कराया गया है।
ताजा खबरें,

News

आशाओं का एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन
पीलीभीत : स्वास्थ्य विभाग में संगिनी पद पर
चयन प्रक्रिया में धांधली किए जाने से
भड़की आशाओं ने उपजिलाधिकारी कार्यालय
पर प्रदर्शन कर चयन निरस्त कराने की मांग
का ज्ञापन सौंपा। आशाओं ने चयन
प्रक्रिया की जांच कराने तथा वेतन
वृद्धि की मांग की। बीसलपुर में
भी कार्यकत्रियों ने सामुदायिक स्वास्थ्य
केंद्र परिसर में प्रदर्शन कर विरोध जताया।
संगिनी पद की चयन प्रक्रिया में
मनमानी किए जाने से आशा कार्यकत्रियों में
रोष है। आशाओं का आरोप है
कि जो कार्यकत्रियां कार्य नहीं करती हैं।
उनका चयन किया गया है और जो अच्छा कार्य
कर रही हैं उनका चयन ही नहीं किया गया है।
आशा कार्यकत्री कल्याण एसोसिएशन
की ब्लाक अध्यक्ष इदरीसन के नेतृत्व में
उपजिलाधिकारी कार्यालय पर नारेबाजी कर
प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा। इसमें
कहा गया कि आशा कार्यकत्रियां रातदिन
मरीजों एवं गर्भवती महिलाओं,
बच्चों को स्वास्थ्य सेवाएं दिलवाती हैं। इसके
एवज में उन्हें नाममात्र
का मेहनताना मिलता है। स्वास्थ्य विभाग
द्वारा संगिनी का चयन किया गया है
तथा 15 जुलाई को साक्षात्कार
की औपचारिकता की गई जिसमें मनमाने ढंग से
चयन करने से आशाओं में रोष है। बिलसंडा में इसके
विरोध में धरना प्रदर्शन शुरू किया गया।
शुक्रवार को आशा कार्यकत्रियों ने
उपजिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर
ज्ञापन सौंपा तथा चयन निरस्त कराने
की मांग की। कार्रवाई न होने पर आंदोलन
की चेतावनी दी है तथा आशाओं का वेतन बढ़ाकर
पांच हजार कराने की भी मांग की गई।
प्रदर्शन में इदरीशन, सीमा सिंह, शकुंतला,
शोभारानी, पूजा देवी, नीलम देवी,
विमला देवी, रामबेटी, माया शर्मा, मिथलेश
कुमारी, रेनू शुक्ला, शशिबाला, अनोखी देवी,
तरसेम कौर, चिंता देवी, पुष्पा देवी,
मुन्नी देवी, अरुण कुमारी आदि शामिल थीं।
बता दें कि डीएम के निर्देश पर इसमें सीएमओ
खुद जांच कर रहे हैं।
—————
शोपीस बने सीयूजी मोबाइल फोन
फोटो : 8 बीएसएलपी 5
बीसलपुर: प्रदर्शन कर
रही आशा कार्यकत्रियों ने बताया कि निशुल्क
वितरित किए गए सीयूजी मोबाइल फोन
शो पीस बने हुए है।
गत 26 जून को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में
अधीक्षक डा.ठाकुरदास द्वारा उन्नीस
एएनएम व 160 आशाओं को निशुल्क
सीयूजी मोबाइल फोन वितरित किए गए थे।
ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर
बनाने के लिए शासन ने एएनएम व आशाओं
को निशुल्क सीयूजी मोबाइल फोन उपलब्ध
कराए थे। जो अभी तक शो-पीस बने हुए हैं। इससे
कार्यकत्रियों में रोष है। उन्होंने चिकित्सालय
परिसर में एकत्र होकर विभागीय
अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन किया।
उन्होंने बताया कि सीयूजी नंबर खुले
ही नहीं है। जबकि बार-बार इस बारे में
अफसरों को अवगत कराया गया है।
ताजा खबरें,

News